Home » Sai Baba Raksha Kavach

SAI BABA RAKSHA KAVACH

॥ साई कवच ॥

सदगुरु साई मुझे शक्ति दो, करुँ मैं तेरा ध्यान ।

विनती सुन लो, मुझ को दे दो चरणों में स्थान ॥…..(1)

अंतर्मन के सिंहासन पर बैठो दयानिधान ।

बीते कितने जनम व्यर्थ ही अब कर दो कल्याण ॥…..(2)

श्रद्धा-सबुरी ही हो मेरी भक्ति का आधार ।

ज्ञानरश्मि दो और मिटा दो अंतस का अंधियार ॥…..(3)

लक्ष्मी बनकर भर दो मेरा खाली घर-भण्डार ।

बनकर राम संयमित कर दो वाणी और व्यवहार ॥…..(4)

षडरिपुओं का शमन करो मेटो बाधा-व्यवधान ।

रोग-शोक को हर लो साई दो सुख का वरदान ॥…..(5)

शरण तुम्हारी आया हूँ कर दो जीवन आसान ।

कृपा करके पूरा कर दो मुक्ति का अरमान ॥…..(6)

तुम हो अंतर्यामी साई समझो मन के भाव ।

पूरा कर दो पूर्व कर्म का बाकी बचा हिसाब ॥…..(7)

भक्तों के वत्सल हो साई, मेटो सकल अभाव ।

चित्त शुद्ध कर दो, मुझको दो अपना परम स्वभाव ॥…..(8)

प्रेमपूर्णता, करुणामयता, निश्छलता दो साई ।

दयाभाव दो, क्षमाभाव दो, विनम्रता दो साई ॥…..(9)

बल-सम्बल दो, संतृप्ति दो, निर्भयता दो साई ।

सच्चाई, ईमान, मधुरता अरु समता दो साई ॥…..(10)

ज्योतिपुंज हो, ज्योतित कर दो अंतस का आकाश ।

हर लो सारी चिंता, हर पल दो अपना एहसास ॥…..(11)

सारे पूज्य स्वरुप तुम्हारे ही स्वरुप हैं साई ।

सिरजनहार सकल सृष्टि का एक तुम्हीं हो साई ॥…..(12)

शांति, परमसुख, शुभाशीष और कृपादृष्टि दो साई ।

साई कवच को उर्जा से भरपूर बना दो साई ॥…..(13)

गाये जो “श्री साई कवच” वो पाये तेरी सुरक्षा ।

कठिन समय में भी उसकी पूरी हो जाये इच्छा ॥…..(14)

धन–सन्तति–सम्मान–सुयश सब सहज प्राप्त हो साई ।

हर दिन सुखमय, सारा जीवन मंगलमय हो साई ॥…..(15)

श्रधा से तेरी महिमा जो भी दोहराये साई ।

उस पर दया दिखाना उसका दुख हर लेना साई ॥…..(16)

सच्ची राह दिखाना साई अनुप्रेरित भी करना ।

भूल क्षमा कर देना साई रहम नजर भी करना ॥…..(17)

हर पल तुमको याद करुँ और नमन करुँ मैं साई ।

भक्तिभाव से तव चरणों में करुँ समर्पण साई ॥…..(18)

॥ ऊँ श्री साई ॥

©2018 by Saibaba. Proudly created with rpgwebsolutions.com